Breaking News

पूज्य दद्दा- बाई स्मृति परिणय यज्ञ 30 अप्रैल को धवर्रा में * *विवाह के पवित्र बंधन में बधेंगे 51 जोड़े *

 सतना /छतरपुर - पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास के तत्वावधान में पूज्य दद्दा बाई स्मृति परिणय यज्ञ 30 अप्रैल (शुक्रवार) को छतरपुर जिले में नौगाँव के समीप ग्राम धवर्रा के खेल परिसर  में आयोजित होने जा रहा है।  न्यास के अध्यक्ष  डॉ  राकेश  मिश्र ने बताया है कि श्रीमती शांति मिश्रा की चतुर्थ पुण्य तिथि पर आयोजित इस समारोह  में मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के विवाह योग्य 51 वर वधू के जोड़े, विवाह संस्कार के पवित्र बंधन में बंधेंगे। प्रातः 8 बजे से  दोपहर 3 बजे तक आयोजित इस समारोह में विद्वान आचार्यों द्वारा हिंदू रीति रिवाज से विवाह की रस्में पूरीं होंगीं। इस समारोह में एक सौ दो गॉंव के वर- कन्या पक्ष बड़ी संख्या में प्रात: हनुमान जी मंदिर धवर्रा में सबेरे आठ बजे एकत्रित होंगे। सभी का जलपान व स्वागतोपरांत सभी दूल्हे घोड़ों पर विराजमान होकर न्यास द्वारा सिलवाये गये एक जैसे सूट-बूट में बाराती, बैण्ड बाजों, डीजे, अडब्बी एवं देशी नर्तकों के साथ दो किलोमीटर की दूरी तय कर खेल परिसर पहुँचेंगे। मार्ग में गॉंववासी व बाहर के अतिथिगण पुष्प वर्षा कर बारात का भव्य स्वागत करेंगे। पं. गणेश प्रसाद मिश्र खेल परिसर में  पहले से मौजूद कन्या पक्ष के लोग अपने -अपने दूल्हे राजा का कानपुर से आई मशहूर शहनाई वादन के साथ द्वारचार  टीका करेंगे। वधुओं को सजाने हेतु महिला गाइड बनाई गईं हैं। जो न्यास द्वारा दिये गये लहंगा चुनरी व ज़ेवरात से सुसज्जित होंगीं। इसके पश्चात दिव्य- भव्य मंच पर एक साथ 51 कन्याओं की दिव्य जयमाला बुंदेलखंडी लोकगीतों व गारियों के साथ होंगी।तदुपरांत हरे बांस के मंडपों पर जामुन से आच्छादित विवाह वेदिका पर वर -कन्या पक्ष के पंडित अपने गाँव एवं कुल की परंपरानुसार विवाह की रस्में पूरी करेंगे। ये विवाह सर्व समाज का है जिसमें जाति पॉंति  का भेद भुलाकर हर कन्या का एक अभिभावक बनेगा। जो पूरे विवाह आयोजन में कन्यादान जैसी भूमिका में रहेगा। पूरे क्षेत्र भर के घोड़े, बैंड बाजा, अडब्बी, रमतूला, दल दल घोडी, बग्घी गाडी, पालकी, आतिशबाजी व ड्रोन से पुष्प वर्षा होगी।सभी कन्याओं को उनकी गृहस्थी का संपूर्ण सामान भी पंडित गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास के द्वारा प्रदान किया जाएगा। जो लगभग एक  टाटा 407 ट्रक में आयेगा।अतिथियों व बारातियों को स्वागत में भोजन, जलपान, ठंडाई व चाय की व्यवस्था की गई है।सभी अतिथियों व बारातियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किये जायेंगे। 

       इस कार्यक्रम की तैयारियों में न्यास से जुड़े कार्यकर्ता प्राण प्रण से जुटे  हुए हैं। आसपास के क्षेत्रों में उल्लास व उमंग का वातावरण है। धवर्रा  गांव और क्षेत्रीय लोग आगंतुकों के स्वागत के लिए लगे हुए हैं।

            देश विदेश के ख्याति प्राप्त महानुभावों के शुभकामनाएँ  संदेश इस समारोह हेतु प्राप्त हो रहे हैं। जिसमें पूज्य संत त्रिलोचन दर्शन दास जी महाराज ग़ाज़ियाबाद, भजन गायक पद्मश्री अनूप जलोटा जी, डॉ. अनुराधा पोडवाल जी, गीतकार श्री अनु मलिक जी, सुश्री प्राची अधिकारी सहित बड़ी संख्या में हर क्षेत्र के विशेषज्ञों के संदेश मिल रहे हैं। 

कार्यक्रम संयोजक प्रतीक सक्सेना (सन्नो) ने बताया है कि यह आयोजन कोविड-19 की सावधानियों को ध्यान में रखकर व नियमों का पालन करते हुये किया जाएगा। आप  सादर सपरिवार आमंत्रित हैं। सामाजिक महाकुंभ के इस भव्य आयोजन में आप इष्ट मित्रों सहित समय पर अवश्य पधारियेगा।



No comments