Followers

Total Pageviews

Friday, September 20, 2019

आरोपियों को किया गिरफ्तार

बड़ी खबर/छतरपुर- ओरछा थाना पुलिस ने दो-दो हजार के दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

ग्राम हमा में 18 वर्ष रेखा अहिरवार के साथ विजय अहिरवार के द्वारा बुरी नियत से पकड़ने विरोध करने पर बलि अहिरवार, राहुल अहिरवार तीनो के द्वारा पत्थरों से मारपीट गली गलोच जान से मारने की धमकी देने पर ओरछा थाना पुलिस ने 354, 294, 323,324,336,506,34 ipc के तहित मामला दर्ज जिसमे फरार आरोपियों को पकड़ने में सफलता पुलिस ने हासिल की और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर ओरछा थाना पुलिस के थाना प्रभारी जितेंद्र पाटकर, सुरेन्द्र मरकाम,हरदेव सिंह, श्याम लाल, अशोक तिवारी, पुष्पेंद्र वर्मा ने किया गिरफ्तार।



शिक्षा व्यवस्था के बुरे हाल


भ्रष्टाचार उजागर

.नगर पालिका परिषद टीकमगढ़ में सीएमओ माधुरी शर्मा ने किया भ्रष्टाचार
 उजागर दिग्गजों ने करवाया स्थानांतरण: 9 पार्षदों ने मुख्यमंत्री को भेजा
 इस्तीफा कहा भ्रष्टाचार उजागर करने वालों का यह सम्मान.!!

भोपाल l नगर पालिका परिषद टीकमगढ़ में सीएमओ माधुरी शर्मा और नगर पालिका 
अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी राकेश गिरी गोस्वामी का विवाद बढ़ता ही जा रहा है l सीएमओ
 माधुरी शर्मा ने नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी राकेश गिरी गोस्वामी और उनके
 विधायक पति राकेश गिरी गोस्वामी द्वारा कराए गए नगर पालिका परिषद टीकमगढ़
 मैं निर्माण कार्यों को लेकर भ्रष्टाचार उजागर हुआ है l टीकमगढ़ में नगर पालिका द्वारा
 पिछले कई वर्षो में किये गए भयंकर भ्रष्टाचार में बाधा ईमानदार टीकमगढ़ नगर पालिका
 सीएमओ माधुरी शर्मा के ट्रांसफर के विरोध में 9 पार्षदों ने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री
 कमलनाथ को भेजा है l पार्षदों ने चेतावनी दी अगले 24-48 घन्टे में ट्रांसफर नही रुकने
 पर और भी इस्तीफे संभव पार्षदों ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ को कार्यकर्ताओ की
 आवाज़ सुननी ही पड़ेगी।

Thursday, September 19, 2019

विधायक आलोक चतुर्वेदी ने की महोत्सव को सफल बनाने की अपील



/छतरपुर--नवरात्र पर फिर होगी गरबा महोत्सव की धूम 

--------------------------------------
केएम ग्रुप और एडिफाई स्कूल के प्रायोजन से हिन्दू उत्सव समिति का गरबा महोत्सव 2 अक्टूबर से
----------------------------------------
विधायक आलोक चतुर्वेदी ने की महोत्सव को सफल बनाने की अपील
--------------------------------------
छतरपुर। बुन्देलखण्ड के सबसे प्रख्यात गरबा महोत्सव के लिए हिन्दू उत्सव समिति ने तैयारी शुरू कर 
दी है। बुन्देलखण्ड के जाने माने केएम ग्रुप एवं एडिफाई स्कूल ने इस गरबा महोत्सव का प्रायोजन किया
 है। शहर के न. 2 स्कूल में 2 oct से 7 oct तक इस गरबा महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। क्षेत्रीय
 विधायक आलोक चतुर्वेदी पज्जन भैया ने शहर के लोगों से उक्त आयोजन को सफल बनाने की अपील की है।
हिन्दू उत्सव समिति के अध्यक्ष पवन मिश्रा ने बताया कि प्रति वर्ष अपनी संस्कृति को सहेजने और नवरात्र
 में माता की आराधना के लिए आयोजित होने वाले इस गरबा महोत्सव के लिए केएम ग्रुप के डायरेक्ट
र नीतेश चतुर्वेदी ने अपना सहयोग प्रदान किया है।उन्होंने बताया कि इस यह गरबा महोत्सव पूरी तरह
 निशुल्क है।इस महोत्सव मे कई टीमें अपनी अपनी नृत्य प्रस्तुति लेकर माँ की आराधना करेगीं। साथ ही 
इस वर्ष महोत्सव में प्रतिदिन एक बुंदेली प्रस्तुति भी होगी जिसे प्रतिदिन पुरस्कृत किया जाएगा। उन्होंने 
बताया कि महोत्सव के अंतर्गत एक कलमकार,एक साहित्यकार एवं एक समाजसेवी को भी सम्मानित किया
 जाएगा। उन्होंने बताया कि महोत्सव में भाग लेने वाली महिलाओं के पंजीयन शुरू हो चुके हैं। उन्होंने लोगों
 से अपील की है कि  प्रशिक्षण हेतु पंजीयन कराएं। फार्म प्राप्त और जमा करने का स्थान है हिन्दू उत्सव 
समिति कार्यलय प्रताप सागर चौपाटी महल रोड छतरपुर।

जतारा


पुलिस अधीक्षक अनुराग  सुजानिया के  निर्देश पर  जतारा एसडीओपी प्रदीप सिंह राणावत
 के मार्गदर्शन में चंदेरा थाना प्रभारी  मनीष सिघल ने की बडी़  कार्यवाही ग्राम उपरार में  रेत
 से भरे  एक डंपर  4 ट्रक पर कार्रवाई की जिससे खनिज माफियाओं में हड़कंप का माहौल 
है ट्रक चालक मौके से फरार
 

भाजपा का वृहद प्रदर्शन

किसानों को मुआवजा दिलाने भाजपा का वृहद प्रदर्शन

 एवं एसडीएम कार्यालय का घेराव कल

छतरपुर। प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से बड़े पैमाने पर फसलों को नुकसान हुआ हैं। खेत में ही फसल नष्ट हो गईइसके बाद भी प्रदेश की कमलनाथ सरकार सोई हुईहैं। कमलनाथ सरकार कोजगाने के लिए आज पूरे प्रदेश के साथ-साथ छतरपुर जिले की सभी तहसीलों में भारतीय जनता पार्टी किसानों के हित में सड़कों पर उतरेगी और एसडीएम कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपा जाएगा। छतरपुर विधानसभा में इस आंदोलन का प्रभारी नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह को बनाया गया हैंउनके नेतृत्व में शुक्रवार की दोपहर 12 बजे छत्रसाल चैराहे पर सभी किसान भाई और पार्टी केवरिष्ठ नेता, कार्यकर्ता एकत्रित होकर आंदोलन की सकल में प्रदेश सरकार को जगाने के लिए नारे-बाजी करते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचकर कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपेगे। नपाध्यक्ष एवं आंदोलन की प्रभारी श्रीमती अर्चना गुड्डू सिंह ने सभी किसान भाईयों और पार्टी पदाधिकारी एवं कायकर्ताओं से अनुरोध किया है कि इस आंदोलन में पहुंचकर आंदोलन को सफल बनाए और सोई हुई कांग्रेस सरकार को जगाए जिससे किसान भाईयों को शीघ्र मुआवजा की राशि व आर्थिक मदद मिल सकें। 
इसी तरह बिजावर विधानसभा के लिए प्रभारी भाजपा के कद्दावर नेता पुष्पेंद्र प्रताप सिंह गुड्डू भैया, बड़ामलहरा विधानसभा के लिए पूर्व मंत्री ललिता यादव, चंदला विधानसभा के लिए विधायक राजेश प्रजापति, राजनगर विधानसभा के लिए भाजपा महामंत्री अरविंद्र पटैरिया को बनाया गया हैं।

कलेक्टर ने पीओपी मूर्तियों के निर्माण और विसर्जन पर रोक लगाई



छतरपुर। जिला दण्डाधिकारी मोहित बुंदस ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 133 के
 तहत आदेश जारी कर छतरपुर जिले के नगरीय क्षेत्रों में आगामी 8 अक्टूबर तक प्लास्टर
 ऑफ पेरिस की मूर्तियां निर्मित करने और उनके विसर्जन पर रोक लगा दी है। आदेश का
 उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध विधि अनुसार कार्यवाही की जाएगी।
उल्लेखनीय है कि गत 31 अगस्त को शांति समिति की बैठक में समिति सदस्यों के 
सुझाव और आगामी दिवसों में नवरात्रि पर्व के दौरान प्रतिमा निर्माण और मूर्ति विसर्जन
 के दृष्टिगत धारा 133 का आदेश जारी किया गया है। इस संबंध में गत 16 सितम्बर को
 नगरवासियों द्वारा भी पीओपी की मूर्तियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए ज्ञापन प्रस्तुत किया गया था।

पन्ना नेशनल पार्क क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने बनाई रणनीति




संभाग के कलेक्टर-एसपी सहित जनप्रतिनिधि हुये शामिल


 
जिले से सटे पन्ना नेशनल पार्क में पर्यटन को बढ़ावा देने एवं यहां आ रहीं दिक्ततों के समाधान
 के लिए गुरूवार को पन्ना नेशनल पार्क के कर्णावती व्याख्यान केन्द्र में बैठक का आयेजन किया
  गया। इस बैठक में संभाग के सभी जिलों से आए कलेक्टर-एसपी के अलावा पन्ना नेशनल पार्क
 के अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि शामिल हुए। 
बैठक में शामिल जनप्रतिनिधि छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी, बिजावर विधायक बबलू शुक्ला
 एवं राजनगर विधायक नातीराजा ने पार्क क्षेत्र में किसानों के साथ आ रही समस्याओं के समाधान
 पर जोर दिया। नातीराजा ने कहा कि नेशनल पार्क क्षेत्र से कई पुराने कब्जेदार किसानों को जबरन
 खदेड़ा जा रहा है। कई जंगली जानवर खेतों में घुसकर फसलों का नुकसान कर रहे हैं इसके लिए 
भी रणनीति बनाई जाए। बैठक में मौजूद कमिश्नर आनंद शर्मा ने पार्क क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ाने के 
लिए सुझाव दिए तो वहीं आईजी सतीश सक्सेना ने पर्यटन क्षेत्र में मौजूद होटल, रिसार्ट आदि की
 निगरानी से संबंधित सुझाव दिए। बैठक में कलेक्टर मोहित बुंदस, डीआईजी अनिल महेश्वरी, 
एसपी तिलक सिंह, डीएफओ अनुपम सहाय, पन्ना नेशनल पार्क के प्रमुख अधिकारी केएस 
भदौरिया मौजूद रहे। डीआईजी महेश्वरी ने इस अवसर पर पर्यटको की सुरक्षा को लेकर कई बिंदु
 पर कार्यवाही की बात भी कहीइस अवसर बिजावर विधायक ने पार्क क्षेत्र में लगे अपनी विधानसभा के
 गाँव की प्रमुख समस्यायों को भी सामने रखा
Attachments area
Turn off for: Hindi

इंदौर-शिर्डी सीधी उड़ान की बुकिंग प्रारंभ


इंदौर. इंदौर से शिर्डी के लिए 27 अक्टूबर से सीधी उड़ान प्रारंभ होने वाली है।
 इंडिगो एयरलाइन्स की इस उड़ान के लिए गुरुवार से बुकिंग प्रारंभ हो गई है।
इंदौर एयरपोर्ट के अनुसार 72 सीटर प्लेन इंदौर से सुबह 9.35 बजे शिर्डी के लिए
 उड़ान भरेगा और 10.55 बजे शिर्डी पहुंचेगा। इसी प्रकार शिर्डी से 11.20 बजे
 इंदौर के लिए विमान प्रस्थान करेगा जो 12.35 बजे इंदौर एयरपोर्ट पर उतरेगा।
इंदौर से शिर्डी की बुकिंग फिलहाल 4910 रुपए में की जा रही है। वहीं शिर्डी से
 इंदौर का किराया 5215 रुपए है। आने-जाने का टिकट एक साथ बुक कराने पर
 104 रुपए की छूट के साथ किराया 10021 रुपए है। जानकारों का कहना है कि
 आने वाले समय में किराया कम हो सकता है।

जल संरक्षण के लिए

*मृदु जल संरक्षण के लिए बावड़ियों का हुआ उद्घाटन*

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भारत सरकार द्वारा प्रायोजित एवं द राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी भारत इलाहाबाद उत्तर प्रदेश के द्वारा राजनगर तहसील के पीरा,  पथरगुंवा,  राजगढ़, अवधपुरा एवं टिकरी में मृदु जल संरक्षण एवं उपयोग हेतु राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी भारत द्वारा स्टेपबेल (बावड़ी) का जीर्णोद्धार प्रोफेसर बीपी शर्मा पूर्व अध्यक्ष नासी के निर्देशन में किया गया जीर्णोद्धार के उपरांत इन बावरियों को अकादमी ने पुनः समाज को समर्पित किया किया गया पथरगुंवा की बावड़ी का उद्घाटन दिनांक 19 सितंबर को श्री कृष्णा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ बृजेंद्र सिंह गौतम ने किया। उद्घाटन का यह कार्यक्रम राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी  द्वारा भोपाल में आयोजित तीन दिवसीय कांफ्रेंस के उद्घाटन सत्र में स्काईपी द्वारा सीधा प्रसारण किया गया जहां पर मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भोपाल के महानिदेशक एवं राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी के वैज्ञानिक एवं विशेषज्ञ उपस्थित रहे । डॉ अश्वनी कुमार दुबे समन्वयक जल परियोजना राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी भारत गोदावरी एकेडमी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी छतरपुर ने बताया कि बावली का यह जीर्णोद्धार बुंदेलखंड में होने वाले जल के संकट को दूर करने के उद्देश्य से किया जा रहा है और भविष्य में बुंदेलखंड के अन्य बावली पर भी कार्य किया जाएगा इससे ग्रामीणों को पेय जल की समस्या से मुक्ति  मिलेगी। इस अवसर पर राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी से आईडी शुक्ला पथरगुंवा के राजेश शुक्ला एवं गणमान्य नागरिकों के साथ सैकड़ों ग्रामवासी उपस्थित रहे ।
Attachments area

मेनका गाँधी का विरोधाभास

(व्यंग्य )

(व्यंग्य )

कमलनाथ  सरकार अहिंसा की उन्नायक ! (दूध और चिकिन की बिक्री एक स्थान से  )  

 ----डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल 

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------
                                       विश्व में एक शब्द का विरोधी शब्द भी होता हैं जैसे सुख का विरोध दुःख ,अहिंसा का विरोधी हिंसा. ऐसा सुनने में आता हैं की जो अहिंसात्मक प्रवत्ति का व्यक्ति होता हैं उसके पास हिंसक और पालतू पशु एक साथ बैठते हैं और उनका आशीर्वाद भी लेते हैं .अहिंसा का इतना व्यापक प्रभाव पड़ता हैं की यदि पूर्व का इतिहास देखे तो अहिंसा का उद्घोष और उसे स्थापित करने का प्रयास सनातन से चला हैं .भगवान् ऋषभ देव जी ने मात्र श्रमण संस्कृति की स्थापना अहिंसा को स्थापित करने के लिए की और अहिंसा का स्वागत हर युग में ,अनेकों युगपुरुषों ने किया हैं ,उसकी सूची बहुत लम्बी हैं ,
                                       भगवान् राम ,कृष्णा ,महावीर, बुद्ध  से लेकर महात्मा गाँधी और उसके बाद पश्चिमी देशों ने भी अहिंसा को अपनाया जैसे मार्टिन  लूथर किंग ,नेल्सन मंडेला आदि अदि कितने प्रत्यक्ष  और अप्रत्यक्ष प्रभावित हुए .और हिंसा का दौर बहुत दिनों तक नहीं रह सकता ,हिंसा से की हल नहीं निकलता ,युध्य का हल चर्चा और शांति से ही निकलता हैं .युध्य का मैदान हिंसा का बिगुल बजाता हैं .
                                      अहिंसा की शुरुआत में सबसे पहले नैतिकता ,आहार का बहुत बड़ा योगदान होता हैं .हिंसक व्यक्ति की कोई भी कार्य कलाप अहिंसक नहीं हो सकती .अहिंसा का प्रभाव हमारे  आहार से शुरू होता हैं .मांसाहार की शुरुआत हिंसा से होती हैं ,कारण मांस कभी भी हत्या  के बिना प्राप्त नहीं होता हैं ,जब मांसाहर खाने वाला हिंसक सामग्री सेव्य करेगा तो अमूमन उसके मन में दया का भाव नहीं रहेगा ,और दया विहीन मानव दानव होता हैं या हो जाता हैं .कभी कभी देखने सुनने में आता हैं की जो घर में पशु का मांस खाने जीव हिंसा करते हैं ,उस हिंसा का प्रभाव बच्चों पर पड़ता हैं और कभी कभी बच्चे खेल खेल में उसी का नाटक करते हैं और अनहोनी घटना होती हैं .
                                   आजकल मांस मदिरा मच्छली अंडा का व्यापार आर्थिक विकास के लिए प्रमुखता से स्थान दिया जाता हैं ,उसका कारण  निरीह प्राणियों की निर्मम हत्या करना ,क्या यह परिपाटी अपने परिवार के सदस्य के साथ अपना सकते हैं ?यदि हां तो स्वागत करूँगा .
                                   जो व्यक्ति मांसाहार का सेवन करता हैं वह ऐसे मामलों में उस व्यापार को बढ़ावा देते हैं .हमारे प्रदेश के मुखिया ने इस सम्बन्ध में बहुत ही अनुकरणीय कदम उठाया हैं  उन्होंने ने एक स्थान पर ही दूध और चिकिन ,कड़कनाथ मुर्गों को बेचने का प्रशंसनीय कदम उठाया हैं ,जबकि पिछली सरकार ने कड़कनाथ मुर्गे को घरो घरो भेजने की सुविधा दी थी ..
                                    यह कदम महावीर युग की याद दिलाता हैं ,महावीर के पास एक साथ गाय और शेर दर्शन करने आते थे ,उनके शासनकाल में माँसाहारी और शाकाहारी एक घाट में साथ में पानी पीते थे.उसी प्रकार मध्य प्रदेश सरकार जिसे  मनपसंद सरकार कहना उचित हैं भी महावीर के हिंसा के सिद्धांतों का पालन कर रही हैं ,साधुवाद ,यदि उचित समझे तो शराब ,मांस अंडेके साथ शबाब  भी प्रदाय करे .जिस प्रकार मिंटो हाल में शराब, कबाब और शबाब की सुविधा हैं उस प्रकार इसमें भी अमल किया जावे जिससे आर्थिक उन्नति हो सकेगी और एक स्थान पर सब सामान सुविधा से मिल सकेगा .
                              सरकार   एक तरफ गौशाला और गौ संरक्षण की बात करती हैं यानि अहिंसा, दया की बात और दूसरी और मांस मुर्गा ख़िलाने की बात .वैज्ञानिक ,डॉक्टर और धार्मिक ग्रन्थ इनको अमान्य कर चुके हैं और उसके विपरीत बढ़ावा यह दोगली नीति हैं .इससे आबादी नियनत्रण में सरकार का योगदान होगा और देश के विकास में चिकित्सक और चिकित्सा व्यवसाय का जरूर  विकास होगा .बेरोजगार  की समस्या ख़तम होगी .प्रदेश और देश में बूढ़े नहीं रहेंगे ,कारण खाने वाले जवानी में ही ऊपर चले जायेंगे .एक तीर से कई निशाने हैं .
                        इसीलिए मांस मुर्गा खाओ हृदय रोग बुलाओ .
                            कोई नहीं हैं नुक्सान इससे 
                            हमारे घर तक मिलेगा सुविधा से 
                            फिर क्यों नहीं बढ़ेगा कैंसर ,किडनी 
                             जैसे घातक रोग 
                              उससे बेरोजगारी   की समस्या दूर होगी 
                                आबादी नियंत्रण होगी 
                              बुढ़ापा नहीं आएगा 
                            लगे रहो मुन्ना भाई 
                     डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन, संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104  पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट, होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026  मोबाइल 09425006753

स्वास्थ्य के लिए आवश्यक  बर्तन ---------डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन भोपाल 

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------
                            वर्तमान में हम खान पान के कारण अनेकों बीमारियों को आमंत्रित कर रहे हैं ,साग सब्जी अन्न ,दूध पानी में इतने रसायन मिले रहते हैं की उनसे हम स्वयं बीमार होते जा रहे हैं उसके बाद हमारे यहाँ खाना बनाने में बहुत लापरवाही होती हैं और  अनजाने में भी रोग ग्रस्त होने लगते हैं .कभी कभी खाना बनाते समय भी स्वच्छता का ध्यान न होना भी हानिकारक होता हैं .
                              क्या आप जानते हैं कि अलग-अलग तरह के बर्तनों की अपनी विशेषताएं होती है, और उनमें खाना पकाने पर उनके गुणों का असर भोजन में भी आ जाता है। आज हम आपको बता रहे हैं 6 ऐसे बर्तनों के बारे में जिन्हें अधिकांश जगह भोजन पकाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।          
                          1. पीतल : पीतल के बर्तनों में सामान्यत: पुराने समय में ज्यादा खाना पकाना एवं खाया जाता था। यह नमक और अम्ल के साथ प्रतिक्रिया करता है, इसलिए खट्टी चीजों का या अधिक नमक वाली चीजों को इसमें पकाना या खाना नहीं चाहिए, अन्यथा फूड पॉइजनिंग हो सकती है। 
                       2. तांबा : तांबे के बर्तनों का उपयोग भी पुराने जमाने से ही किया जाता रहा है, और यह भी पीतल की तारह ही अम्ल और नमक के साथ प्रतिकिया करता है। कई बार पकाए जा रहे भोजन में मौजूद ऑर्गे‍निक एसिड बर्तनों के साथ प्रतिक्रिया कर ज्यादा कॉपर पैदा कर सकते हैं, जो नुकसानदायक हो सकता है।
                           3. एल्युमीनियम : इन बर्तनों का इस्तेमाल लगभग हर घर में होता ही है। गर्मी मिलने पर एल्युमीनियम के अणु जल्दी सक्रिय होते हैं और एल्युमीनियम जल्दी गर्म होता है। एल्युमीनियम के बर्तन में खाना पकाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। यह भी अम्ल के साथ बहुत जल्दी रासायनिक प्रतिक्रिया करता है, इसलिए इसमें खटाई या अम्लीय सब्जियों चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
                       4. स्टेनलेस स्टील : स्टेनलेस स्टील का प्रयोग वर्तमान में काफी चलन में है। यह एक मिश्र‍ित धातु है जो लोहे में कार्बन, क्रोमियम और निकल मिलाकर बनाई जाती है। इसमें खाना पकाने या बनाने में सेहत को कोई नुकसान नहीं होता। इन बर्तनों का तापमान बहुल जल्दी बढ़ता है।
                      5. लोहा : भोजन पकाने और खाने के लिए लोहे के बर्तनों का उपयोग हर तरह से फायदेमंद होता है। इन बर्तनों में पकाए गए भोजन में आयरन की मात्रा अपने आप बढ़ जाती है और आपको उसका भरपूर पोषण मिलता है। सामान्य तौर पर सभी को आयरन की आवश्यकता होता है, और महिलाओं को खास तौर से इसकी जरूरत होती है।
                      6. नॉन स्ट‍िक : नॉन स्ट‍िक का मतलब होता है, न चिपकने वाला। अर्थात ऐसे बर्तन जिनमें खाना चिपकता नहीं है और पकाने के लिए अधिक तेल या घी की आवश्यकता भी नहीं होती। लेकिन इन बर्तनों को अत्यधिक गर्म करने या फिर खरोंच लगने पर रसायन उत्सर्जित होते हैं जो हानिकारक हो सकते हैं।
                      ७ चांदी और सोने --- वैसे सबसे सुरक्षित पानी पीने ग्लास  ,खाना खाने थाली चम्मच ,प्लेट सबसे हितकारी होते हैं .जिनकी सामर्थ्य होती हैं वे उपयोग करते हैं ,इसको धनवान से भी जोड़ा जा सकता हैं ,कारण जहाँ लाखों लोगों को खाना नसीब नहीं होता उनके लिए यह कल्पनातीत हैं पर जानकारी के लिए दिया जा रहा हैं .
                         ये सामान्य पर महत्वपूर्ण  जानकरियां हैं .इनका उपयोग लाभकारी होता हैं ,बचाव ही इलाज़ हैं .
                          डॉक्टर अरविन्द प्रेमचंद जैन, संरक्षक शाकाहार परिषद् A2 /104  पेसिफिक ब्लू ,नियर डी मार्ट ,होशंगाबाद रोड, भोपाल 462026  मोबाइल 09425006753

मांसाहार शराब !(शेर गाय एक घाट )