Breaking News

क्सवाहा के हीरा खनन प्रभावित गांव से उठी आवाज, हम अपना जंगल नहीं कटने देंगे। बक्स्वाहा के जंगल बचाने जिला मुख्यालय पर आम सभा व रैली आज। बक्स्वाहा जंगल बचाओ आंदोलन ने प्रभावित गांव का दौरा कर आंदोलन कोर कमेटी का किया गठन

 बक्स्वाहा, छतरपुर// बक्स्वाहा जंगल बचाओ आंदोलन के प्रवक्ता व समाजसेवी अमित भटनागर ने बताया कि बक्सवाहा के जंगल बचाने हेतु आंदोलन द्वारा चलाए जा रहे हरित सत्याग्रह के चौथे दिन निमानी, हरदुआ, ह्दयपुर आदि खनन प्रभावित गांव का दौरा कर उक्त विषय पर संवाद किया। ग्रामीणों ने जंगलों को अपना ईष्ट, अपना पूर्वज बताते हुए कहा कि पीढ़ियों से हमारी आजीविका, हमारा जीवन इन जंगल के सहारे ही चल रहा है, हम किसी भी हाल में अपने जंगल को नहीं कटने देंगे, जरुरत पड़ी तो जंगल बचाने के लिए हम अपनी जान भी दे देंगे। दौरा कार्यक्रम में बक्स्वाहा जंगल बचाओ आंदोलन के प्रवक्ता समाजसेवी अमित भटनागर, राष्ट्रीय कोर कमेटी सदस्य डॉ शुभम सैयाम, पर्यावरण बचाओ अभियान के संस्थापक शरद सिंह कुमरे, निशु मालवीय, आफताब आलम हाशमी भोपाल, बहादुर आदिवासी पूर्व सरपंच कुपिया, भगत राम तिवारी गुड़पारा आदि के साथ प्रभावित गांव निमानी के नंदराम आदिवासी कार्यवाहक जिला अध्यक्ष जयस, चिनुवा आदिवासी,  किशोर सिंह राजपूत, भूरा आदिवासी, रामरतन आदिवासी, आशीष यादव, काशीराम आदिवासी, बबलू आदिवासी, कामता आदिवासी, दयाल आदिवासी, कलुआ अदिवासी, मंटोला आदिवासी, गनपत, मूलचंद आदिवासी, कमलेश अदिवादी, कलीबाई, बेनी बाई, संगीताबाई,गुलाब बाई, गेंदा बाई, रोहित, काशीराम आदिवासी,आदि उपस्थित थे।पर्यावरण बचाओ अभियान के संस्थापक शरद सिंह कुमरे ने आदिवासी समुदाय के प्रमुख सदस्यों को समझाया कि जंगल बचने से ही आदिवासी समाज बचेगा इससे सभी ने तन, मन और धन से बकस्वाहा जंगल बचाने का संकल्प लिया।

जंगल बचाने जिला मुख्यालय पर आम सभा व रैली बक्स्वाहा के जंगल बचाने हेतु हरित सत्याग्रह के पांचवें दिन सुबह 11 बजे छतरपुर की गांधी आश्रम मैं एक आम सभा का आयोजन कर, गांधी आश्रम से नगर के प्रमुख मार्गो से रैली भी निकाली जाएगी। ईस्वर चन्द्र त्रिपाठी, अमित भटनागर, पं दिलीप शर्मा ने जिले के ज्यादा से ज्यादा पर्यावरण प्रेमियों से कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।



No comments