Breaking News

पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास द्वारा 15 वीं स्वास्थ्य परिचर्चा 15 मई को आयोजित:

  हेल्थ वेबिनार में जानिए ”कोविड महामारी काल में मानसिक बीमारी व डिप्रेशन का उपचार ” 


 तनाव से बचने की सावधानियां बताएंगे मनोचिकित्सक डॉ. अमित गर्ग:   


नई दिल्ली/सतना। कोरोना संकट के दौरान हर दिन चारों तरफ से नकारात्मक ख़बरें और बातें सुनने व देखने को मिल रही हैं। इससे न सिर्फ हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर बुरा असर पड़ता है बल्कि यह कोरोना की जंग को भी कमजोर कर रहा है। ऐसे में  पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास मानसिक बीमारियों जैसे तनाव और अवसाद से बचने के लिए एक अहम स्वास्थ्य परिचर्चा का आयोजन करने जा रहा है।

न्यास द्वारा आयोजित की जाने वाली स्वास्थ्य परिचर्चाओं के क्रम में इस 15वें आयोजन में देश के जाने माने युवा मनोचिकित्सक डॉ. अमित गर्ग, एम डी, पूर्व सहायक प्राध्यापक (इंस्टीट्यूट आफ ह्यूमन बिहेवियर एंड एपलाइड साइंस, IBHAS नई दिल्ली) लोगों को संबोधित करेंगे। डॉ अमित गर्ग  पिछले बारह वर्षों से मानसिक बीमारी और मानसिक स्वास्थ्य का उपचार कर रहे हैं। उनकी  स्नातक शिक्षा कॉलेज ऑफ़ मेडिकल साइंसेज एंड गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल, दिल्ली से हुई  है ।यह दिल्ली का एक प्रसिद्ध मेडिकल कॉलेज है।अपनी चिकित्सा शिक्षा में उन्होंने मानसिक बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए गहरी रुचि और सहानुभूति विकसित की। इसके बाद उन्होंने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन प्रतिष्ठित मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और गोबिंद बल्लभ पंत इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन और साइकियाट्री और मानसिक स्वास्थ्य में प्रशिक्षण के लिए अनुसंधान किये।    

       वह एक कुशल मनोचिकित्सक क्षेत्र में विशेषज्ञता रखते हैं।इबहास अस्पताल मस्तिष्क की समस्याओं पर काम करने वाला एक  बड़ा स्वायत्त चिकित्सा संस्थान है । उन्होंने कुछ समय तक सुभारती मेडिकल कॉलेज में मनोरोग के एसोसिएट प्रोफेसर के रूप में भी काम किया। वे अपने कैरियर के दौरान मनोचिकित्सक और मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर के रूप में कई पुरस्कार प्राप्त किये हैं।जिसमें दिल्ली साइकियाट्रिक सोसाइटी द्वारा सर्वश्रेष्ठ युवा मनोचिकित्सक के लिए रवि पांडेय स्मारक पुरस्कार से सम्मानित किया गया । 

      उनके पास मस्तिष्क और मस्तिष्क से संबंधित समस्याओं को ठीक करने के प्रति जोश और समर्पण है। उन्हें अक्सर मरीजों, साथियों और उनके साथ काम करने वाले वरिष्ठ लोगों द्वारा एक शांत, समर्पित और गंभीर  चिकित्सक के रूप में जाना जाता है। वह अपने रोगियों और उनकी देखभाल और सहायता के लिए हमेशा उपलब्ध रहते हैं। उनकी स्पष्ट वक्ता, कुशलता और संवाद करने की क्षमता सराहनीय व प्रशंसा के योग्य है। वह मरीजों और उनके परिवार के सदस्यों की जरूरतों का  सदैव सम्मान करते हैं, जिसमें उनकी भावनात्मक तकलीफ और गोपनीयता भी शामिल है। सबसे महत्वपूर्ण है कि वह वास्तव में अच्छी तरह से रोगियों और परिवार के सदस्यों के हित में रुचि रखते हैं। वह एक बायो-साइको-सोशल मॉडल के साथ अभ्यास करते हैं जो इक्कीसवीं शताब्दी में मानसिक स्वास्थ्य देखभाल की रीढ़ या सोने का मानक है। मनोचिकित्सा के क्षेत्र के प्रति उनके आधुनिक दृष्टिकोण ने उन्हें अभ्यास के क्षेत्र में नये नये विकास के बारे में अद्यतन रहने के लिए प्रेरित किया। वह ब्रेन और माइंड की समस्याओं के उपचार के लिए अपने विनम्र प्रयास को जारी रखना चाहते हैं, जो कि मानसिक स्वास्थ्य की दिशा में एक समग्र लक्ष्य है।


 घर बैठे पाइए चिकित्सकीय परामर्श: 

न्यास द्वारा गत वर्ष से ही विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं पर देश के सुप्रसिद्ध चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य परिचर्चाओं का आयोजन किया जा रहा है। इन हेल्थ वेबिनार के जरिए आप घर बैठे अपने प्रश्न व जिज्ञासाओं का समाधान प्राप्त कर सकते हैं। अब तक आयोजित स्वास्थ्य परिचर्चाओं से हज़ारों लोग लाभान्वित हो चुके हैं।यह परिचर्चाय्ं न्यास के यूट्यूब पर उपलब्ध हैं।

      इस बार भी  माइक्रोसॉफ़्ट टीम एप पर शनिवार, 15 मई 2021 सायं 7 बजे से यह परिचर्चा होगी । न्यास से जुड़े कार्यकर्ताओं व न्यास के व्हाट्सप ग्रुप के जरिए आप अपने प्रश्न पूर्व में ही प्रेषित कर सकते हैं।डॉ. अमित गर्ग जी सबका उत्तर प्रदान करेंगे।


No comments