Breaking News

अधिमान्य पत्रकार फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी मेंः मुख्यमंत्री श्री चौहान छतरपुर, 03 मई 2021

 प्रदेश के अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार फ्रंट लाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल किये गये हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण में वास्तविकता को जन-जन तक पहुँचाने वाले पत्रकार भी वास्तव में कोरोना वॉरियर्स हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अधिमान्य पत्रकारों को भी फ्रंट लाइन वर्कर्स को दी जाने वाली सभी सुविधाओं का लाभ दिया जायेगा।  

स.क्र./28/1261/2021/  

समाचार

मुख्यमंत्री श्री चौहान 17 हजार श्रमिकों के खाते में करेंगे 379 करोड़ रूपये अंतरित

संबल योजना के हितग्राही होंगे लाभान्वित

छतरपुर, 03 मई 2021

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 4 मई को जन-कल्याण संबल योजना में लगभग 17 हजार असंगठित श्रमिक परिवारों के बैंक खाते में 379 करोड़ रूपये सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित करेंगे।

संबल योजना प्रदेश के श्रमिक परिवारों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के साथ परिवारों को आधार प्रदान करने वाली योजना है। इस योजना के अन्तर्गत श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों की दुर्घटना मृत्यु पर 4 लाख रूपये की राशि उनके आश्रितों को प्रदान की जाती है। इसी तरह सामान्य मृत्यु तथा स्थायी अपंगता पर श्रमिक परिवारों को दो-दो लाख रूपये की अनुग्रह राशि मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना में दी जाती है। योजना में आंशिक स्थायी अपंगता पर एक लाख रूपये उपलब्ध कराने और अन्त्येष्ठि सहायता के रूप में 5 हजार रूपये दिये जाने का प्रावधान भी हैं।

मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना असंगठित क्षेत्र के गरीब श्रमिक परिवारों के लिए संबल प्रदान करने का कार्य कर रही है। योजना प्रारंभ होने से अब तक प्रदेश के 2 लाख 28 हजार हितग्राहियों को 1907 करोड़ रूपये से अधिक की राशि वितरित की जा चुकी है। पिछले वित्तीय वर्ष में कोरोना महामारी जैसी विषम परिस्थितियों में भी 72 हजार से अधिक हितग्राहियों के बैंक खाते में 582 करोड़ रूपये हितलाभ वितरित किये गये थे।

मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना 2018 में शुरू की गई थी। इसमें असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के जरूरतमंद परिवारों को बच्चे के जन्म के पहले से लेकर पूरे जीवनकाल में मदद दी जाती है। इसमें हाथ ठेला चलाने वाले लोगों से लेकर कबाड़ इकट्ठा करने वाले गरीबों, घरों में काम करने वालों, पत्थर तोड़ने वालों को मदद मिलती है। प्रदेश के ऐसे लाखों गरीब परिवारों के लिये संबल योजना सहारा बनी है।  

स.क्र./29/1262/2021/

समाचार

संक्रमण जहाँ है, वहीं उसे रोकना होगा

घर-घर सर्वे कर मेडिकल किट दें

होम आइसोलेशन व कोविड केअर सेंटर्स की अच्छी व्यवस्था हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना नियंत्रण कोर ग्रुप की बैठक ली

छतरपुर, 03 मई 2021

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना की चेन ब्रेक करने का एक मात्र तरीका यही है कि जहाँ संक्रमण है उसे वहीं रोकना होगा। गाँव-गाँव, मोहल्ले-मोहल्ले, गली-गली में जहाँ भी संक्रमण हो माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनायें तथा कोरोना को वहीं रोक दें। साथ ही ऐसे क्षेत्र जहाँ कोरोना संक्रमण नहीं है, वहाँ बाहर से आने-जाने वालों पर सख्ती की जाए, जिससे वहाँ संक्रमण प्रवेश न कर पाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी के प्रयासों से मेरा गाँव-कोरोना मुक्त गाँव, मेरा मोहल्ला-कोरोना मुक्त मोहल्ला और मेरा शहर-कोरोना मुक्त शहर बनायें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि घर-घर सर्वे कर सर्दी, जुकाम, बुखार के मरीजों की पहचान की जाए और उन्हें मेडिकल किट देकर इलाज शुरू कराया जाए। प्रारंभ से ही दवाई दिए जाने से मरीज जल्दी स्वस्थ हो जाएंगे। इसके लिए गाँव और शहरों में अभियान चलाया जाए। शहरों में कोरोना सहायता केंद्र बनाये जायें, जहाँ से आसानी से मेडिकल किट उपलब्ध हो सके।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट एवं मार्गदर्शिका प्रदाय की जाए तथा इलाज के संबंध में प्रतिदिन डॉक्टर उनसे बात कर सलाह दें। जिन मरीजों के घर में जगह कम है उन्हें कोविड केयर सेंटर्स में रखा जाए। कोविड केयर सेंटर्स में इलाज के साथ ही भोजन आदि की भी अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। होम आइसोलेशन व्यवस्था को परफेक्ट बनाया जाए।

होम आइसोलेशन व्यवस्था को पर्फेक्ट बनायें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन व्यवस्था को परफेक्ट बनायें, जिससे मरीज घर पर ही स्वस्थ हो जायें और उन्हें अस्पताल जाने की आवश्यकता ही न पड़े। प्रदेश में वर्तमान में 64 हजार 218 मरीज होम आइसोलेशन में हैं, इनमें से 13 हजार 596 ग्रामीण क्षेत्र में तथा 50 हजार 622 नगरी क्षेत्र में हैं।

87 हजार 179 सक्रिय मरीज

प्रदेश में नए  प्रकरणों की तुलना में अधिक मरीज स्वस्थ होकर घर जा रहे हैं। इससे प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में निरंतर कमी आ रही है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 12 हजार 652 नए मरीज आए, वहीं 13 हजार 890 मरीज स्वस्थ हुए। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 87 हजार 179 हो गई है। प्रदेश की रिकवरी रेट 84.2ः तथा मृत्यु दर 1ः है। संक्रमण की दृष्टि से प्रदेश देश में 14वें स्थान पर है।

कोविड केयर सेंटर्स में 1267 ऑक्सीजन बेड्स

प्रदेश में संचालित हो रहे कोविड केयर सेंटर्स में से 80 में ऑक्सीजन की व्यवस्था है। इन सेंटर्स में 14 हजार 362 आइसोलेशन बेड्स तथा 1267 ऑक्सीजन बेड्स उपलब्ध हैं। कोविड केयर सेंटर्स में मरीजों के इलाज के साथ ही उनके भोजन आदि की अच्छी व्यवस्था की गई है।


No comments