Breaking News

पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास द्वारा आयोजित दद्दा वाई स्मृति सामूहिक विवाह की तैयारियों पर बैठक संपन्न

 बुंदेलखंडी रीति-रिवाजों और संस्कृति से होगा परिणय यज्ञ

आगामी 30 अप्रैल 2021 (शुक्रवार) को होने वाले 51 जोड़ों  के सामूहिक विवाह कार्यक्रम के संबंध में आज श्री गणेश आई. टी.आई. नौगाँव में न्यास के अध्यक्ष डॉ राकेश मिश्र जी द्वारा समस्त कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर विवाह कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की गई । सर्व समाज के इस विवाह समारोह में अनेक प्रकार से बुंदेलखंड की संस्कृति के दर्शन होंगे। संस्कारों की विलुप्तता आज विवाहों में देखने को मिलती है, वह इस विवाह समारोह में देखने को मिलेगी। लोकल फ़ार वोकल की भावना से ओतप्रोत यह आयोजन किया जा रहा है। पूर्व विधायक पुष्पेंद्र नाथ पाठक ने गहन मंत्रणा कर कुछ निर्णय सर्वसम्मति से किए ।

सर्वप्रथम गरीब कन्याओं के पंजीयन कराकर उनकी पात्रता तय करना है। पंजीयन फार्म आई टी आई सहित कई प्रमुख स्थानों पर उपलब्ध रहेंगे । देश भर से किसी भी जाति के वयस्क वर वधू इसमें शामिल हो सकते हैं ।

अइयो अइयो हजारी हरदौल, तुम्हारे बल पै काज रचो

श्रीमती शांति मिश्रा की चतुर्थ पुण्य तिथि पर 30 अप्रैल को प्रात: नौ बजे से आयोजन प्रारंभ हो जायेगा । बजरंग बली मंदिर धवर्रा से बारात एकत्रीकरण व स्वागतोपरान्त घोड़ा पर दूल्हे, बैंड, बाजा, अडब्बी, रमतूला, आतिशबाजी, दल दल घोड़ी व पालकी के साथ परम्परागत सजावट से बारात नगर भ्रमण करके पं. गणेश प्रसाद  मिश्र खेल परिसर धवर्रा में पहुँचेगी। 

बने दूला छब देखो भगवान की, दुलन बनी सिया जानकी

जहां पहले से सजी हुई कन्या पक्ष द्वारा बुंदेली गारीं व दादरों से स्वागत अगवानी होगी। सभी दूल्हों की सामूहिक द्वार पूजा होगी। इसके लिये त्रिस्तरीय भव्य मंच पर 17x3 के तीन स्टेप पर, यनि 51x15 आकार के चार फुट ऊँचे भव्य  मंच पर भव्य जयमाला कार्यक्रम होगा। जयमाला उपरांत सभी वर वधू अपने अपने पूर्व निर्धारित कक्षों में चले जायेंगे। जहां आगे की विवाह रस्में हरेक जोड़ा अपने मॉ -बाप व रिश्तेदारों के साथ पाणिग्रहण संस्कार करायेंगे। हरेक जोड़ा अपने रिश्तेदारों व परिवार के साथ लाये हुये पंडित व नाई के साथ अपने समाज के अनुसार भाँवर व नेगचार आदि करेगा।

बुंदेली वैवाहिक गीतों से सुसज्जित ऑर्केस्ट्रा देगी मुख्य मंच पर प्रस्तुति

फेरों के समय मुख्य मंच पर संगीतमय बुंदेलखंड की आर्केस्ट्रा निरन्तर बुंदेली गारीं, वरमाला गीत, विदाई गीतों की लावण्यमयी बुंदेली प्रस्तुतियाँ देगी। प्रत्येक वर-वधू के सहयोग व सजाने-संवारने हेतु 51 पुरुष व 51 महिला गाईड रहेंगीं। इस कन्यादान महोत्सव में पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास के आह्वान पर 51 परिवार  कन्यादान के लिए पण्डाल में संस्कार करने हेतु पधार रहे हैं। दोपहर एक बजे प्रीतिभोज होगा जिसमें गणमान्य अतिथियों सहित बारात स्वागत के लिए देश भर के लोग रहेंगे। उसके बाद दो बजे शुभ विदाई न्यास के द्वारा की जायेगी जिसमें वधू को गृहस्थी का हर उपयोगी सामान न्यास द्वारा दिया जायेगा।

आज की बैठक में पंजीयन, प्रचार प्रसार, व्यवस्थायें, बैंड, ढोल, अडब्बी, घोड़ा, पालकी, संगीत व्यवस्था, जलपान, भोजन, वरमाला से लेकर पुष्प वर्षा एवं साज सज्जा के विषयों पर गहन चर्चा की गई।

कार्यक्रम संयोजक प्रतीक सक्सेना 'सन्नो' ने सभी सुझावों पर अगली बैठक में अमल करने की बात कही। श्रीमती आशा रावत, डॉ. रचना मिश्रा, प्रतीक सक्सेना, दीपक दीक्षित, सूरज मिश्र, नरेंद्र मिश्र, मंटू खरे, ब्रजेश अग्रवाल, कन्हैया अग्रवाल, विनोद सिंह घोष, जयदेव सिंह बुंदेला, सावन दीक्षित, लल्लन महाराज, सुनील रावत, साहित्य मिश्र, तृप्ति कठैल, मोनू शर्मा, बी जी अहिरवार, आर के त्रिवेदी, प्रभात मास्टर, धीरेंद्र शिवहरे, ब्रजेश राय, श्रीराम रिछारिया, अनूप मिश्रा, प्रवीण दुबे, ब्रजेश वाजपेयी सहित बड़ी संख्या में न्यास के कार्यकर्ताओं की उपस्थिति रही।




No comments