Breaking News

मुख्यमंत्री ने सागर संभाग के कोविड संक्रमण की अद्यतन समीक्षा की किल कोरोना अभियान पूरी शक्ति से संचालित करें: सीएम संक्रमित पाए गए व्यक्तियों का प्रारंभ से ही उपचार हो जिले प्रयास करें कोविड संक्रमण की दर में और तेजी से कमी लाएं

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को सागर संभाग के सागर, दमोह, टीकमगढ़ और छतरपुर जिले की कोविड संक्रमण की अद्यतन स्थिति की जिला कलेक्टर के साथ वर्चुअल समीक्षा की। उन्होनें निर्देश दिए कि किल कोरोना अभियान पूरी शक्ति एवं गति से संचालित करें, इसमें ढिलाई नही बरतें प्रथम चरण के पूर्ण होने पर दूसरा चरण शुरु करें। घर-घर सर्वे में पाए गए संक्रमित व्यक्ति का आरंभ से ही उपचार शुरु हो संक्रमण को किसी भी स्थिति में फैलने न दें और प्रयास करें की आगामी दिनों में एक्टिव केस की दर में और तेजी से कमी आए। उन्होनें कहा कि ऐसे परिवार के बच्चे जिनके मुखिया कोविड संक्रमण में नही रहेे है उनकी सूची शीघ्र तैयार करें ताकि ऐसे परिवार को पेंशन का लाभ दिया जा सके।

उन्होनें कहा कि घर-घर सर्वे में पाए गए लक्षणों के आधार पर संक्रमित व्यक्तियों का टेस्ट प्राथमिकता से कराएं। टेस्ट में शिथिलता नही बरतें, वार्ड एवं ग्रामों में आपदा प्रबंधन समिति टीकाकरण कराने के लिए लोगों को जागरुक करते हुए उनके भ्रम को दूर करें।

कलेक्टर श्री शीलेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री की जानकारी में बताया कि एक्टिव कोरोना केस की संख्या 474 है उनमें से 368 आइसोलेशन में हैं, किल कोरोना अभियान के जिले में अच्छे परिणाम मिले हैं। मेरा गांव मेरी सुरक्षा और मेरा वार्ड मेरी सुरक्षा के आधार पर मुख्य सड़कें सील करते हुए कोरोना वॉलेंटियर्स बनाएं गए। बाहरी प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन किया गया। चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कोविड मरीजों को मनोचिकित्सक और योग प्रशिक्षक माध्यम से प्रेरित कराया गया। भर्ती मरीजों को उनके परिजनों से मोबाईल वीडियो कॉलिंग से बातचीत करा कर उनका आत्मबल बढ़ाया गया जिससे रिकवरी रेट बेहतर रहा।

जिले के 1036 ग्रामों द्वारा स्वयं को आइसोलेेट किया गया। 114 ग्रामों में पॉजिटिव केस हैं। जिले के शहरी क्षेत्र नौगांव, खजुराहो, राजनगर तथा छतरपुर में और सख्ती से कोरोना कर्फ्यू से पालन कराएंगें।

जिला आपदा प्रबंधन समिति की सदस्य और पूर्व मंत्री श्रीमती ललिता यादव ने बताया कि जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन प्लॉट का फाउण्डेशन तैयार हो चुका है उसके लिए मशीन सहित आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराने का कष्ट करें। 18 वर्ष से अधिक लोगों के टीकाकरण के लिए स्लॉट बुकिंग में दिक्कत आ रही है और नौगांव के टीबी चिकित्सालय का जीर्णोधार हो चुका है। इसके व्यवस्थित संचालन के लिए चिकित्सकों सहित पैरामेडीकल स्टाफ की जरुरत होगी।



No comments