Breaking News

पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास द्वारा प्रयागराज में माघ मेला के अवसर पर विशाल सर्व सुविधायुक्त पंडाल लगाया जा रहा है

 न्यास द्वारा गत चार वर्षों से नियमित रूप से संगम तट पर कल्पवासियों के लिये माघ मेले में तीन कथायें आयोजित की जा रही हैं। माघ माहात्म्य कथा 29 जनवरी से प्रारंभ होकर 27 फ़रवरी तक प्रतिदिन प्रात:8-9 बजे तक श्री घनश्याम शास्त्री जी(भीमकुंड) के मुखारबिंद से होगी।श्री रामकथा का आयोजन 30 जनवरी से 07 फ़रवरी 2021 तक प्रतिदिन 2 से 5 बजे तक होगी, जिसे श्री राहुल शास्त्री (वृंदावन) के द्वारा होगी। तृतीय कथा श्री मद्भागवत कथा 8से 16 फरवरी तक प्रतिदिन 2 से 5 बजे तक श्री राहुल शास्त्री जी के मुखारबिंद से होगी ।


श्री भीमकुंड स्वामीजी के कृपापात्र श्री श्री 1008 श्री स्वामी शंकर्षणाचार्य जी महाराज के मार्गदर्शन में न्यास के द्वारा त्रिवेणी मार्ग दक्षिण पटरी पुल नंबर 2 के पास (झूँसी साइड), गंगा तट से पहला भूखंड, सेक्टर नं.3, मेला परिसर प्रयागराज में पंडाल एवं रुकने की व्यवस्था की गई है ।पं. शंकर्षणाचार्य जी महाराज रूरावन वालों के द्वारा वहां व्यवस्थाएं की जा रही हैं।मकर संक्रांति के अवसर पर बुंदेलखंड के 8 जिलों के सैकड़ों लोगों ने पवित्र संगम में डुबकी लगाई एवं मोक्ष की कामना की ।आगे 4 विशेष पर्व हैं ।मोनी अमावस्या 11 फरवरी (गुरूवार) , बसंत पंचमी 16 फ़रवरी (मंगलवार), अचला सप्तमी 19 फरवरी (शुक्रवार) एवं माघी पूर्णिमा 27 फरवरी(शनिवार ) को है ।आप सभी धर्म प्रेमियों से अनुरोध है कि न्यास द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं में सहयोग करते हुए कोई भी भक्त वहां रहकर गंगा स्नान का पुण्य प्राप्त कर सकता है ।श्री भीमकुंड स्वामी जी के कृपापात्र श्री श्री 1008 श्री स्वामी शंकर्षणाचार्य जी महाराज वहां पर आपके मार्गदर्शन के लिए उपस्थित हैं। सभी धर्म प्रेमियों से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में माघ मेला प्रयागराज में पहुँचें। पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास द्वारा मेला परिसर में ही एक विशाल स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है जो 7 फरवरी 2021 को प्रातः 9:00 से 2:00 बजे तक होगा। इसमें आंख के मरीजों की जांच होगी, उनको चश्मे दिए जाएंगे व मोतियाबिंद आपरेशन हेतु चयन करके ले ज़ाया जायेगा ।जिनको सुनाई कम देता है,उनको श्रवण मशीन दी जाएगी। 07 फरवरी(रविवार) को स्वास्थ्य शिविर के समय बुंदेलखंड के अलावा दिल्ली, मुंबई, लखनऊ, भोपाल एवं दूरस्थ क्षेत्रों के अनेक धर्मावलंबी उपस्थित रहेंगे ।आपसे अनुरोध है की प्रमुख पर्व के अवसर पर भी जाएं और यदि उस समय नहीं जा पाते हैं तो स्वास्थ्य शिविर के दिन अवश्य जाएं ।यह मेला 27 फरवरी 2021 (शनिवार) को पूर्ण होगा 





No comments