Breaking News

तहसीलदार घुवारा के विरोध में गरीबों ने खोला मोर्चा।आधा सैकड़ा से ज्यादा लोंग बच्चो को लेकर बैठे अनिश्चित कालीन हड़ताल पर।।

 घुवारा//गुरुवार की दोपहर से घुवारा के मेन बस स्टैंड पर गरीबों ने तहसीलदार के विरोध में मोर्चा खोल दिया है और आधा सैकड़ा गरीब मजदूरो ने बच्चों के साथ अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठ गए है ।

आप को बता दे कि नगर घुवारा में बीते दिनांक 04/12/2020 को तहसीलदार घुवारा सुनील वर्मा एंव नगर परिषद सीएमओ मिथलेश गिरी गोस्वामी ने भारी पुलिस की मौजूदगी में गरीब मजदूरों के प्रधानंत्री आवासों को गिरा दिया गया था।

जिस पर गरीब खुले छत के नीचे अपने बच्चे के साथ ऐसी कडकडाती ठंड में अपना जीवन यापन कर रहे है ।

आज दोपहर को सभी गरीबो ने मिलकर मेन बस स्टैंड पर तहसीलदार के विरोध में अपनी मांगों को लेकर मोर्चा खोल दिया है।

वही रैकवार समाज के गरीब पीड़ित परिवारों ने अपने बच्चों व महिलाये के साथ अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठ गए है।

जिसमे मुख्यता तीन मांगो को लेकर नायब तहसीलदार बड़ामलहरा सुनील कुमार बाल्मीक को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देते हुए कहा है कि अगर तहसीलदार घुवारा सुनील वर्मा को तहसीलदार घुवारा को नगर घुवारा से हटाया जावे।

जिन गरीबो के आवास गिराए गए है उन आवासों की जांच कर तहसीलदार घुवारा सुनील वर्मा सीएमओ घुवारा मिथलेश गिरी गोस्वामी पर वैधानिक कार्यवाही की जावे और मुआवजा राशि दिलाई जावे।

जिन गरीबो के आवास व दासे गिराए गए है उनका आवास बनवाया जावे साथ ही उनके आवाशीय पट्टे दिलाये जावे।

उक्त मांगो को अगर शासन प्रशासन पूरा नही करती है तो हम गरीब मजदूर आत्म हत्या करने को मजबूर होंगे जिसकी जाबदारी शासन प्रशासन की रहेगी।


अभी रात्रि के दौरान गरीब मजदूर रैकवार  पीड़ित परिवार अपने छोटे छोटे बच्चों को लेकर खुले में कड़कड़ाती ठंड में बैठे हुए है प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नही है।





No comments