Breaking News

पं. गणेश प्रसाद मिश्र की के ग्राम धवर्रा में मनाई गई चौथी पुण्यतिथि!!

 ! श्रद्धांजलि सभा, सुंदर कांड प्रतिभा सम्मान व पेयजल टंकियों सहित अनेक कार्यक्रम संपन्न !!


नौगाँव/ धवर्रा । मिटा दे अपनी हस्ती को अगर कुछ मरतबा चाहे, कि दाना खाक में मिलकर गुले गुलजार होता है। कुछ लोग दूसरों की जिन्दगी आसान बनाने के लिए अपने जीवन की आहुति देकर अपने आपको कष्ट में डालकर दूसरों की जिन्दगी बचाते हैं उन्हें रास्ता दिखाते हैं उनका भविष्य उज्जवल करते है, पं गणेश प्रसाद मिश्र जी ने ऐसा ही जीवन जिया है। उन्होंने जो संस्कार दिए जो शिक्षायें दीं, जिस प्रकार का जीवन जिया हमें भी अपने जीवन में उतारना चाहिए तभी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। अपने लिए तो सब जीते हैं लेकिन जो दूसरों के लिए जीते हैं सही मायनों में उन्हीं का जीवन सार्थक होता है।

मध्यप्रदेश की सीमा के बीचों बीच स्थित उत्तरप्रदेश के महोबा जिले की ग्राम पंचायत धवर्रा में बुंदेलखंड के पहले प्रचारक स्व. पं.  गणेश प्रसाद  मिश्र सेवा न्यास के अध्यक्ष डा. राकेश मिश्र ने अपने पिता पं. गणेश प्रसाद मिश्र के संस्कार और पदचिन्हों पर चलते हुए गांव के विकास का जो सपना संजोया है वह पूरा करने में लगे हुए है।ग्राम धवर्रा में स्वास्थ्य, शिक्षा, पानी, रोजगार, सडक़ जैसी सुविधायें ग्रामीणों को मिल रहीं हैं। धवर्रा में एक विशाल खेल मैदान भी बनकर तैयार हो चुका है। रविवार को राष्ट्र के कार्य के समर्पण के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रचारक के रूप में कार्य करने वाले पं. गणेश प्रसाद मिश्रा जी की चौथी पुण्यतिथि मनाई गई। इस दौरान उत्तरप्रदेश के वित्तमंत्री सुरेश खन्ना, कृषिमंत्री सूर्य प्रताप शाही, हमीरपुर सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह सहित वरिष्ठ नेताओं ने पहुंचकर पं. गणेश प्रसाद मिश्र जी को श्रद्धांजलि अर्पित की।


तरक्की के साथ साथ संस्कार जरुरी : वित्तमंत्री सुरेश खन्ना

उत्तरप्रदेश के वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि मिटा दे अपनी हस्ती को अगर कुछ मरतबा चाहे, कि दाना खाक में मिलकर गुले गुलजार होता है। उन्होंने कहा कि  अपने लिए तो सब जीते हैं लेकिन जो दूसरों के लिए जीते है सही मायनों में उन्हीं का जीवन सार्थक होता है। उन्होंने कहा कि नौजवानों से हम उन्नति, तरक्की की बात करते है लेकिन संस्कारों की बाते कम करते हैं। आज पंजाब ने तरक्की की लेकिन वह नशे की चपेट में है।


देश की उन्नति के लिए जिया जीवन : कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही उत्तरप्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि पं गणेश प्रसार मिश्र ने हमारे देश की उन्नति हो और विश्व गुरु के रूप में दुनिया में स्थापित हो।इसलिए उन्होंने अपने जीवन का बहुत बड़ा हिस्सा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को समर्पित करते हुए उन्होंने प्रचारक का जीवन शुरू किया। प्रचारक जीवन के पश्चात विभिन्न प्रकार के रचनात्मक कार्यक्रम जो डॉ राकेश मिश्रा कर रहे हैं ये उनके पूज्य पिता पं. गणेश प्रसाद मिश्र के संस्कारों का प्रभाव है। आज नौकरी के लिए मारामारी होती है लोग नौकरी के लिए दौड़ लगाता है और पं. गणेश प्रसार मिश्र जी ने पोस्ट मास्टर की नौकरी को छोडक़र के राष्ट्र के कार्य के समर्पण के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक के रूप में कार्य किया, ऐसी महान विभूति को मैं श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

इस अवसर पर सेवा न्यास की वार्षिक गतिविधियों की पुस्तक तृतीय पुष्प का विमोचन अतिथियों ने किया।


पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास के अध्यक्ष डॉ. राकेश मिश्र ने कहा कि  चार साल पहले दद्दा जी का निधन हुआ था लेकिन उनके काम ऐसे हैं कि आने वाली पीढ़ियां जानती हैं। उसी काम को करने के लिए दद्दा जी ने अपना पूरा जीवन लगा दिया। उन्होंने कहा कि आज जो सभी लोग यहां धवर्रा में उपस्थित हुए हैं  वह पूज्य पं. गणेश प्रसाद मिश्र जी  के स्नेह और प्रेम है। धवर्रा में विशाल खेल मैदान तैयार हो चुका है, खिलाड़ी सुबह शाम मैदान में दौड़ें, अपना स्वस्थ शरीर बनायें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के फिट इंडिया कार्यक्रम को आगे जारी रखें, यहीं हमारे न्यास की भावना है। पं. गणेश प्रसाद मिश्रा खेल परिसर धवर्रा में श्रद्धाजलि सभा, सुंदराकांड पाठ, प्रतिभा सम्मान समारोह में छब्बीस छात्र छात्राओं को ग्यारह ग्यारह सौ रूपये के चैक, घड़ी व मैडलदिये गये। पचास विद्यालयों को पॉंच सौ लीटर की पेयजल टंकियों का वितरण भी किया गया। संस्कृत भाषा में सर्वोच्च स्थान पाने वाली दो छात्राओं को पॉंच -पॉंच हज़ार रूपये के चैक प्रदान किये गये। छात्रों को लेखन पठन सामग्री का वितरण समारोह में किया गया। इस अवसर पर महोबा, प्रयागराज, बाँदा, हमीरपुर, झॉसी, सतना, कटनी, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, रीवा, पन्ना, दमोह से अनेक गणमान्य नागरिक, संत वृंद, विधायक, सांसद, प्रशासनिक अधिकारियों संगठन के पदाधिकारियों की उपस्थिति रही।सभी का आभार संकल्प मिश्र ने व्यक्त किया ।







No comments