Breaking News

छतरपुर में आज 23 लोगों ने कोरोना को दी मात; कुल 222 लोग हो चुकें हैं डिस्चार्ज

जिले मे एक माह के बच्चे से लेकर 90 वर्ष के टी.बी से पीड़ित बुजुर्ग तक पुनः स्वास्थ होकर पहुंचे घर

कोरोना संक्रमण को लेकर लोगो के बीच भय की स्थिति बनी हुई है। लोगो के मन मे कईं तरह के भ्रम उत्पन्न हो रहे हैं, जैसे की इस बीमारी से सबसे ज्यादा खतरा बुजुर्गों, गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चो को है। लेकिन छतरपुर जिले मे हमारे बीच कुछ ऐसे भी उदाहरण हैं जिन्होंने अधिक उम्र और गंभीर बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद कोरोना को मात दी। जिले मे एक माह के बच्चे से लेकर 90 वर्ष के टी.बी से पीड़ित बुजुर्ग तक ने कोरोना को अपनी दृढ इच्छाशक्ति के बल पर हराया हैं। जिला प्रशासन के इन्ही निरंतर प्रयासों का फल हैं कि जिले मे अभी तक कुल 222 लोग कोरोना को परास्त कर पुनः स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट चुकें हैं। जिले मे अभी एक्टिव कोरोना मरीज़ो कि संख्या 89 रह गई है।

कोरोना मुक्त छतरपुर का संकल्प और कोरोना पर जीत के शासन-प्रशासन के अथक और निरंतर प्रयासों के फल स्वरुप आज छतरपुर के कुल 23 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से ठीक होकर अपने घर रवाना हुए। उक्त व्यक्तियों मे 10 महोबा रोड, 06 ढड़ारी और 07 नौगांव स्थित कोविड केयर सेंटर से रिकवरी उपरांत डिस्चार्ज किये गए हैं। डिस्चार्ज हुए सभी व्यक्तियों ने शासन-प्रशासन सहित डाक्टरों, नर्सों, अन्य स्टॉफ आदि को धन्यवाद दिया और कहा कि उनके स्वस्थ होने में इनकी अहम भूमिका रही है।

कलेक्टर श्री शीलेन्द्र सिंह ने सभी स्वस्थ हुए व्यक्तियों को उत्तम स्वास्थ कि शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि अगर कोरोना के  लक्षण दीखते ही कोरोना कि जल्द से जल्द पहचान कर ली जाये तो बेहतर इलाज के माध्यम से हम कोरोना से पूर्णतः स्वास्थ हो सकते हैं। उन्होंने सभी जिलेवासियों से अनुरोध किया है कि कोरोना के लक्षण दिखने पर बिना किसी विलम्ब के तुरंत स्थानीय फीवर क्लिनिक पर अपना सैंपल टेस्ट कराएं। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिए आपकी सतर्कता और प्रशासन को सहयोग सबसे बड़े हथियार हैं।


No comments